जब शाहरुख़ ख़ान को पकड़ कर ले गई थी पुलिस

शाहरुख़ ख़ान नेटफ्लिक्स पर चल रहे डेविड लेटरमैन के शो पर अपने परिवार, करियर और बच्चों के बारे में खुलकर बोलते नज़र आए.

शाहरुख़ ख़ान, नाम ही काफ़ी है!

अपनी फ़िल्मों के ज़रिए शाहरुख़ ख़ान हमेशा ये ही साबित करने की कोशिश में रहे हैं लेकिन नेटफ्लिक्स पर चल रहे डेविड लेटरमैन के शो में ये बात वाक़ई साबित हो गई. इस शो का नाम ही है ‘माय नेक्स्ट गेस्ट नीड्स नो इंट्रोडक्शन विद डेविड लेटरमैन’!

इस इंटरव्यू की ख़ास बात शाहरुख़ ख़ान की बेबाक़ी रही. दुनिया और उनके फ़ैन्स ने पहली बार शाहरुख़ को किचन में खाना बनाते भी देखा.

शाहरुख़ ख़ान ने अपने, अपने परिवार, करियर और बच्चों के बारे में खुलकर बात की.

ब्लिट्ज मैगज़ीन में शाहरुख़ को लेकर एक आपत्तिजनक लेख छपा था.

पहला पन्ना: जब शाहरुख़ को जेल जाना पड़ा

डेविड लेटरमैन ने उनसे कई साल पहले एक मैगज़ीन में छपे लेख के बारे में ज़िक्र करते हुए उनके जेल जाने की बात के बारे में पूछा, तो शाहरुख़ बताते हैं कि मैगज़ीन में छपे उस लेख से वो बहुत नाराज़ हुए थे और ग़ुस्से में उन्होंने मैगज़ीन के एडिटर को फ़ोन लगाया तो एडिटर ने रिप्लाई में कहा ‘इस लेख को मज़ाक की तरह लें, ये मज़ाक था!’

शाहरुख़ ने क़ुबूल किया कि अपना आपा खोकर वह उस मैगज़ीन के ऑफ़िस पहुंचे और ग़ुस्से में गाली-गलौच की.

1993 में आई फ़िल्म ‘माया मेमसाहब’ पर छपे एक लेख से शाहरुख़ नाराज़ हुए थे .

इसके बाद एक फ़िल्म की शूटिंग के दौरान कुछ पुलिस वाले उनके सेट पर पहुंचे और उनको अपने साथ चलने को कहा. यहां दिलचस्प बात ये हैं कि शाहरुख़ को पहले लगा कि वह पुलिसवाले उनके फ़ैन्स हैं और इसलिए वह उनसे मिलने आए हैं तो वे उनको अपनी कार में बैठने का न्यौता देते हैं.

बाद में उन्हें एहसास हुआ कि वह उन्हें मैगज़ीन के एडिटर की शिक़ायत पर गिरफ़्तार करने आए हैं.

शाहरुख़ ने बताया, “फिर मैं उनके साथ चला गया और मैंने पहली बार सेल देखी जो बहुत छोटी सी जगह पर बना था और बहुत ही गंदा था. वहां आप मल-मूत्र देख सकते थे.”

शाहरुख़ को एक दिन पुलिस हिरासत में बिताना पड़ा और बाद में उन्हें बेल मिल गई. शाहरुख़ बताते हैं कि हिरासत से छूटने के बाद वह उस एडिटर के घर से होकर गुज़रे थे.

फ़िल्म ‘माया मेमसाहब’ 90 के दशक की बोल्ड फ़िल्म मानी जाती है

अब आपको बताते हैं कि हुआ क्या था. 1993 में आई फ़िल्म ‘माया मेमसाहब’ में शाहरुख को फ़िल्म के निर्देशक की बीवी के साथ एक लव सीन करना था. वह 90 के दशक की बोल्ड फ़िल्म मानी जाती है जिसमें शाहरुख सहित कई कलाकारों ने बोल्ड सीन्स किए थे.

उस फ़िल्म के बारे में ‘सिने ब्लिट्ज’ मैगज़ीन ने लिखा कि फ़िल्म के निर्देशक केतन मेहता ने अपनी बीवी (दीपा साही) के साथ एक रात रहने को कहा जिससे वह एक-दूसरे को जान जाएं और फिर लव सीन शूट करें.

इस लेख को पढ़कर शाहरुख़ बहुत ग़ुस्सा हुए थे और फिर मैगज़ीन के ऑफ़िस जाकर लेखक को जान से मारने की धमकी भी दे डाली थी.

शाहरुख़ ख़ान ने ‘माय नेक्स्ट गेस्ट नीड्स नो इंट्रोडक्शन विद डेविड लेटरमैन’ शो में की दिल की बात.

दूसरा पन्ना: शाहरुख़ और घुड़सवारी

आपने शाहरुख़ को फ़िल्मों में रोमांस करते तो देखा ही होगा. वो एक्शन करते भी दिखाई दे जाते हैं लेकिन घुड़सवारी करते सिर्फ़ ‘अशोका’ फ़िल्म में देखा होगा और उसके बाद कभी नहीं.

घुड़सवारी को लेकर शाहरुख़ बताते हैं कि ‘अशोका- द ग्रेट’ फ़िल्म की शूटिंग के दौरान उनको एक्शन डायरेक्टर ने पूरा आश्वासन दिया था कि जैसे ही एक्शन होगा उनका घोड़ा दौड़ पड़ेगा और उनको सिर्फ़ अपनी एक्टिंग पर ध्यान देना होगा.

फ़िल्म ‘अशोका- द ग्रेट’ में शाहरुख़ ने की थी घुड़सवारी.

जब एक्शन बोला गया तो उनका घोड़ा नहीं भागा. पीछे से एक्शन डायरेक्टर ने जब घोड़े को चाबुक मारी तब वह घोड़ा दौड़ा. शाहरुख़ बताते हैं, “अब घोड़ा दौड़ पड़ा लेकिन वह रुके ही ना. मैं अपना एक्शन शूट कर चुका था लेकिन वह घोड़ा रुके तो. जब मैं वापस आया तो मैंने एक्शन डायरेक्टर से कहा कि ये घोड़ा तो रुका ही नहीं तो वह कहता है कि मैंने तो कहा था कि ये दौड़ेगा, रुकेगा कब ये नहीं पता था.’

तब से शाहरुख़ ख़ान घुड़सवारी से तौबा करते आए हैं.

शाहरुख़ के गुरू

मां-बाप, बचपन और कॉलेज का ज़िक्र आया तो इस बात का भी पता चला कि शाहरुख़ हॉलीवुड एक्टर माइकल.जे.फॉक्स को ना सिर्फ़ एक्टिंग में आने का प्रेरणा स्त्रोत मानते हैं बल्कि उनको अपना गुरू भी मानते हैं.

शाहरुख़ ख़ान बताते हैं कि बचपन में अगर किसी अंग्रेज़ी कलाकार ने उनको प्रेरित किया या कुछ सिखाया तो वह हॉलीवुड एक्टर माइकल.जे.फॉक्स थे. वह कहते हैं कि उनको माइकल.जे.फॉक्स का एक्टिंग करने का स्टाइल, ज़िंदादिली बहुत पसंद आती थी. वह उनकी कई फ़िल्में देखते थे. शाहरुख़ ने बताया कि एक्टिंग के कई हुनर उन्होंने उन्हें देखकर सीखें.

एक्टिंग नहीं करना चाहते आर्यन

तीन बच्चों में से सबसे बड़े बेटे आर्यन ख़ान की पढ़ाई और करियर के बारे में बात करते हुए शाहरुख पिता की हैसियत से बताते हैं कि उनका 21 साल का बेटा न्यूयॉर्क में फ़िल्म की पढाई कर रहा है और वह बहुत अच्छा लिखता है लेकिन उन्हें नहीं लगता कि वह एक्टिंग करेगा.

उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने एक दिन ख़ुद ये बात क़ुबूली थी. वह बताते हैं, ‘आर्यन मुझसे बोला कि अगर वह एक्टर बनता है तो लोग उसे हर बार मेरे एक्टिंग करियर से तौलेंगे. अगर वह अच्छा करता है तब भी और नहीं करता है तो ज़रूर ही करेंगे, तो वह अपने आपको उस जगह पर फंसा हुआ महसूस नहीं करना चाहता.’

आर्यन ख़ान के करियर प्लान को लेकर किया शाहरुख़ ख़ान ने ख़ुलासा.

अपनी बेटी सुहाना ख़ान के करियर के बारे में ज़्यादा बात न करते हुए उन्होंने पिता के रूप में अपनी ज़िम्मेदारियों पर ज़्यादा ज़ोर दिया.

वह बताते हैं कि कैसे वह अपने तीनों बच्चों के दोस्त बनने की कोशिश करते रहते हैं और बच्चे उन्हें अपने गर्लफ़्रेंन्ड और ब्वॉयफ्रेंड से जुड़ी समस्याएं भी बताते हैं.

शाहरुख़ ने बताया, “सुहाना मुझसे कभी-कभी पूछती है कि वह अपने ब्वॉयफ्रेंड के लिए क्या तोहफ़ा ख़रीदे, तो जितना मेरे पास ज़िंदगी का तजुर्बा है, मुझे पता चल जाता है कि कोई लड़का मेरी बेटी के लायक है या नहीं लेकिन मैं कुछ नहीं कहता बल्कि उसके लिए तोहफ़ा ख़रीदने में सुहाना की मदद करता हूं”.

बनाते हैं बच्चों के लिए खाना

पहली बार इस शो के ज़रिए लोगों ने शाहरुख़ को अपने किचन में खाना बनाते हुए देखा. इस शो में यूं तो शाहरुख डेविड लेटरमैन के लिए चिकन बनाते हुए दिख रहे हैं.

लेकिन शाहरुख़ ने बताया कि वह अपने बच्चों के लिए आजकल खाना बनाना सीख रहे हैं. वह रात के दो या तीन बजे भी अपने बच्चों के लिए खाना बनाते हैं.

शाहरुख़ कहते हैं कि वह अभी इटैलियन पकवान बनाना सीख रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *